डीजल-पैट्रोल पर लगी कस्टम डयूटी व वैट को कम किया जाये : विद्रोही

स्वयंसेवी संस्था ग्रामीण भारत के अध्यक्ष एवं हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पूर्व प्रवक्ता वेदप्रकाश विद्रोही ने केन्द्र सरकार व हरियाणा सरकार से मांग की कि डीजल-पैट्रोल पर लगी कस्टम डयूटी व वैट को कम किया जाये। विद्रोही ने कहा  कि इस समय विश्व बाजार मंे कच्चे तेल का दाम 45 डालर प्रति बैरल के आसपास है, लेकिन उपभोक्ताओं को डीजल-पैट्रोल उसी भाव मंे मिल रहा है, जब कांग्रेस यूपीए के जमाने में विश्व बाजार मंे कच्चे तेल के भाव 110 से 120 डालर प्रति बैरल के बीच था। कांग्रेस-यूपीए शासन की तुलना मंे विश्व बाजार मंे मंे कच्चे तेल के दाम ढाई गुणा कम होने पर भी मोदी सरकार पैट्रोल-डीजल के भावों को पूर्व के समान ही रखना दुर्भाग्यपूर्ण व आम आदमी की जेब पर डाका है। विद्रोही ने कहा कि नवम्बर 2014 से जनवरी 2016 के बीच मोदी सरकार ने नौ बार कस्टम डयूटी बढाकर पैट्रोल पर 11 रूपये 77 पैसा व डीजल पर 13 रूप्ये 30 पैसा प्रति लीटर कस्टाम डयूटी बढ़ाकर विश्व बाजार मंे कच्चे तेल के दामों की कमी का मुनाफा स्वयं हडप लिया है। इसी तरह राज्य सरकार पैट्रोल-डीजल पर भारी भरकम वैट लगाकर उपभोक्ताओं की जेब पर डाका डाल रही है। विद्रोही ने केन्द्र की मोदी सरकार से आग्रह किया कि वह अपने शासनकाल मंे पैट्रोल-डीजल पर बढाई गई कस्टम डयूटी वापिस ले। वहीं हरियाणा भाजपा सरकार पैट्रोल-डीजल पर वैट टैक्स को कम करके उपभोक्ताओं को राहत दे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *