Shandilya would file contempt of court if sanitation problem not sorted out in fifteen days

shandilya

डेंगू,मलेरिया को रोकने व गंदगी खत्म करने को लेकर शांडिल्य ने डिप्टी सीएम बादल को भेजी शिकायत

शांडिल्य बोले-यदि 15 दिन में मोहाली समेत पंजाब से गंदगी साफ़ नहीं हुई तो करेंगे अवमानना याचिका दायर l

डेंगू को रोकने के लिए सरकारी व निजी अस्पतालों में बने स्पेशल वार्ड,प्लेटलेट्स की सरकार करें व्यवस्था और तमाम टेस्ट व इलाज मुफ्त करने को लेकर शांडिल्य ने डिप्टी सीएम व स्वास्थ्य मंत्री से की मांग

शांडिल्य ने कहा गंदगी को रिहायशी इलाकों में नहीं किया जा सकता डंप,ऐसा करना हाईकोर्ट के आदेशों की उल्लंघना,शांडिल्य ने 2006 में गंदगी को लेकर व पीने के पानी के पाइपों को सीवरेज व नाले-नालियों से हटाने व डेंगू रोकथाम के लिए दायर की थी जनहित याचिका जिसपर 2008 में चीफ जस्टिस टीएस ठाकुर व जस्टिस सूर्यकान्त ने हरियाणा,पंजाब,चंडीगढ़ को दिए थे आदेश

मोहाली : ब्राह्मण महापंचायत के राष्ट्रीय अध्यक्ष वीरेश शांडिल्य ने आज सेक्टर-69 में पत्रकारों से बातचीत करते हुए बताया की उन्होंने डेंगू,मलेरिया रोकने के लिए आज पंजाब के डिप्टी सीएम सुखबीर सिंह बादल को शिकायत भेजी है l शांडिल्य ने बताया की उपमुख्यामंत्री शिकायत में उन्होंने कहा कि रिहायशी एरिया में गंदगी डंप की जा रही है जो हाईकोर्ट के आदेशों की उल्लंघना है जिस कारण वायरल और अन्य बीमारिया फैल रही हैं । उन्होंने कहा कि दिसम्बर 2008 में हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस और जस्टिस सूर्यकांत की खंडपीठ ने डेंगू रोकथाम और गंदगी को रोकने और खत्म करने को लेकर अहम् फैसला उनकी जनहित याचिका पर दिया था । शांडिल्य ने कहा की डेंगू,मलेरिया को रोकने के लिए सरकारी व निजी अस्पतालों में स्पेशल वार्ड बनाये जाएँ और प्लेटलेट्स की व्यवस्था सरकार द्वारा की जाए और तमाम टेस्ट व इलाज मुफ्त करने के डिप्टी सीएम व स्वास्थ्य मंत्री जल्द आदेश दें l

वीरेश शांडिल्य ने शिकायत में कहा कि हाईकोर्ट के फैसले की बेअदबी की जा रही है यही नहीं हाई कोर्ट के 2008 के फैसले की जिला और राज्य प्रसाशन और स्वास्थ्य विभाग उल्लंघना कर रहा है जिसका उदहारण है की अब तक मोहाली जिला में 200 से अधिक लोग डेंगू की चपेट में अ चुके है l उन्होंने कहा कि दिसम्बर 2008 को चीफ जस्टिस टीएस ठाकुर एवं जस्टिस सूर्यकांत ने अपने अहम फैसले में कहा की संविधान का आर्टिकल 21 में  प्रोटेक्शन ऑफ़ लाइफ एन्ड पर्सनल लिबर्टी का जिक्र किया और गंदगी को खत्म करने में आने वाले खर्च के लिए संविधान के आर्टिकल 243 डब्लू का हवाला दिया । वीरेश शांडिल्य ने कहा कि हाईकोर्ट के आदेशों को दरकिनार कर शहरी क्षेत्रों में गंदगी फैलाई जा रही है डेंगू और वायरल को लेकर प्रसाशन गंभीर नहीं आज भी सीवरेज और नाले नालियों के ऊपर से पीने के पाइप जा रहे हैं हर साल डेंगू से लोग मर रहे हैं । गंदगी शहरी क्षेत्रों में डंप कर बीमारिया फैल रही है । शांडिल्य ने कहा लोगो से पानी के बिल तो वसूले जा रहे हैं लेकिन लोग गन्दा पानी पीने के लिये मजबूर हो रहे है । उन्होंने कहा कि यदि 15 दिन के भीतर यदि जनहित याचिका जो सी.डब्लू.पी 16438/2006 को लागू ना किया और उनकी उपमुख्यमंत्री को दी शिकायत पर कारवाई नहीं हुई तो वह हाईकोर्ट में कंटेम्प्ट पटीशन दायर करेगे वो किसी कीमत पर डेंगू वायरल नहीं फैलने देंगे । शांडिल्य ने इस अवसर पर मीडिया को सुखबीर बादल को भेजी शिकायत भी दिखाई l इस मौके पर कुलवंत सिंह मानकपुर,संजीव विक्टर,मनीष पासी,लखविन्द्र सिंह साधापुर,केसर सिंह,जसमीत जस्सी,राममैहर शर्मा आदि मौजूद थे l

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *